Short Essay on Mera Priya Khiladi

Short Essay on Mera Priya Khiladi | मेरे प्रिय खिलाड़ी पर पर निबंध

Short Essay on Mera Priya Khiladi
Short Essay on Mera Priya Khiladi

दोस्तों आज हम निबंध लिख्नेगे अपने प्रिय खिलाड़ी पर । ये निबंध क्लास 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10 तक स्टूडेंट्स के लिए है । और उनके ध्यान मैं रख कर लिखा गया है ।

मेरे प्रिय खिलाड़ी है महिंद्रा सिंह धोनी जो की इंडिया टीम के कप्तान थे जो   पिछले साल 2020 मैं क्रिकेट के हर फॉर्मेट के गेम से सन्यास ले लिया है । और सिर्फ आईपीएल के मैच खेलते है मेरे प्रिय खिलाड़ी धोनी । आईपीएल टीम चेन्नई सुपर किंग्स के कप्तान है धोनी और आईपीएल के हिस्ट्री मैं धोनी का भी रिकॉर्ड बहुत अच्छा रहा है और आईपीएल ट्रोपी भी जीता चेन्नई सुपर किंग्स ।

धोनी भारत के सबसे सफल कप्तान मैं से एक है और पुरे विश्व के सबसे अच्छे कप्तान के नाम मैं  भी आते है धोनी । धोनी का जनम हुआ है 7 जुलाई 1981 को । धोनी को लोग प्यार से माही भी बोलते है और एक तरह धोनी का दूसरा नाम माही ही समझ सकते है ।

धोनी अपना डेब्यू किया था इंटरनेशनल क्रिकेट मैं साल 2004 को बंगलदेश के खिलाफ और वहाँ से  धोनी का सफर आगे बढ़ गया और आज नाम इज़्ज़त शोरत और सब कुछ है धोनी के पास मैं ।

धोनी ने अपनी जिंदगी मैं बहुत मेहनत की है और तब जेक इस मुकाम पर आये है , और कहते है जो अपने आप पे विश्वास रखता है और मेहनत करता है तोह भगवान भी साथ देता है ।

धोनी एक सीधा साधा मिडिल क्लास फॅमिली से आते थे और कड़ी मेहनत किया है । तब जेक इंडिया क्रिकेट मैं सेलेक्ट हुए थे धोनी । धोनी को कप्तान कूल भी कहा जाता है मैच मैं कोई भी सिचुएशन हो पर धोनी का दिमाग हमेशा ठंडा ही रहता है ।

धोनी राइट हैंड के बैट्समैन है और कीपर है । धोनी की बैटिंग करने की क्लास सबसे से अलग है और जब वो बैटिंग करते है तब छक्का और चौका का अम्बार लग जाता है । वर्ल्ड के बेस्ट फिनिशर मैं से धोनी का नाम आता है । जब वो बैटिंग करते है तोह लास्ट तक मैच जीतवा कर ही आते है ।

धोनी के कप्तान शीप मैं इंडिया ने बहुत सारे ट्रोपी जीता है और icc ट्रोपी भी उसमे से शामिल है । साल 2007 को पहली बार t-20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ था तब इंडिया उस वक़्त बहुत खराब समय से गुजर रहा था क्यों की साल 2007 मैं इंडिया 50-50 वर्ल्ड कप मैं बंगलदेश से हारकर बहुत बदनामी हुआ था और आगे का मैच मैं क्वालीफाईnahi कर पायी थी टीम इंडिया ।

तब उसी साल मैं t-20 वर्ल्ड कप का आयोजन हुआ था और मजे की बात ये थी की टीम इंडिया ने बहुत अच्छी प्रदर्शन किया और एक तरह से बोल सकते है की इंडिया टीम यंग थी और युवराज सिंह के 6 बॉल पर 6 छक्का लगा था और इंडिया फाइनल मैं पहुंच गया और मैच फाइनल  हुआ था पाकिस्तान से और  टीम ने इंडिया पाकिस्तान को हरा कर t-20 वर्ल्ड कप जीत गया था ।

और उसके बाद धोनी के कप्तान मैं इंडिया 50-50 वर्ल्ड कप 2011 मैं भी करीब करीब 28 साल बाद  वर्ल्ड कप जीत गया था । कपिल देव ने 1983 को वर्ल्ड कप दिलवाया था और उसके बाद धोनी ने साल 2011 मैं ।

icc की एक और टौरानमेंट होता है चैपियंस ट्रोपी  मैच जिसमे इंडिया ने धोनी के कप्तान के अंडर वो मैच चैंपियन ट्रोपी भी जीता इस तरह धोनी ने icc के तरफ से होने वाले सभी ट्रोपी मिला ।

धोनी ने अपनी विवाह किया था साल 2010 या 2011 मैं उनकी पत्नी का नाम है साक्षी । और इन दोनों के एक बेटी भी है । धोनी के माता जी का नाम है देवकी देवी है और पिता जी का नाम है पान सिंह है ।

धोनी के अगर कमाई के बात करे तोह लगभग 800 करोड़ से भी जयादा है । धोनी को बाइक का बहुत जयादा शोक है और उनके पास मैं काफी यूनिक और कूल बाइक्स का कलेक्शन है ।

धोनी जब भी रांची आते है तोह देओरी मंदिर जाते है । पूजा करने और ये जगह फेमस हो चूका है क्यों की यहाँ धोनी भी पूजा करने आते है ।

धोनी को बहुत सारे खेल अवार्ड से भी नवाज़ा गया है । और बहुत सारे मैच मैं अच्छे स्कोर किया है one-day और test-match मैं उनकी रन स्कोर  बहुत अच्छा और बैटिंग एवरेज भी जबरदस्त है ।

आज भी धोनी को अच्छे के परफॉरमेंस के लिए जाना जाता है । और मैच के बहार भी धोनी अच्छे दिल के खिलाड़ी है । एक अच्छे इंसांन जो की बहुत कम देखने को मिलता है ।

 

ये भी पढ़े :

  1. विराट कोहली पर दस वाक्य
  2. रोहित शर्मा पर दस वाक्य 
  3. ऋतुराज गायकवाड़ पर दस वाक्य 
  4. देवदत्त पडीक्कल पर दस वाक्य 
  5. वरुण चक्रवर्थी पर दस वाक्य 
  6. हार्दिक पंड्या पर दस वाक्य 

 

 

Leave a Comment