सचिन तेंदुलकर पर निबंध

सचिन तेंदुलकर पर निबंध – Sachin Tendulkar Par Nibandh

सचिन तेंदुलकर पर निबंध
सचिन तेंदुलकर पर निबंध

दोस्तों आज निबंध लिखेंगे सचिन तेंदुलकर पर जो की क्लास 1,2,3,4,5,6,7,8,9,10,11,12 के सभी स्टूडेंट्स के लिए है । और ये निबंध सब के लिए उपयोगी है ।

क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले  सचिन तेंदुलकर का पूरा नाम है सचिन रमेश तेंदुलकर | सचिन तेंदुलकर जन्म हुआ है 24 अप्रैल 1973 को । सचिन के पिता जी का नाम है रमेश तेंदुलकर । और माता जी का नाम है रजनी तेंदुलकर है । सचिन के बड़े भैया है जिनका नाम है अजित तेंदुलकर है और दूसरा का नाम है नितिन तेंदुलकर है । सचिन की एक बेहेन भी है जिनका नाम है सविता तेंदुलकर है ।

सचिन रमेश तेंदुलकर जब छोटे थे तब से क्रिकेट मैं रूचि देखने लगी थी और उनका परिवार और उनके कोच ने बहुत सपोर्ट किया है । क्रिकेट मैं नाम कमाने के लिए कड़ी मेहनत सचिन जब स्कूल के दिनों मैं थे तब वो पढाई भी करते थे और समाय मिलते ही ग्राउंड मैं कोच के साथ मैं प्रैक्टिस सुरु कर देते थे ।

उस समय के दौर मैं सचिन ने स्कूल के टाइम मैं  होने वाली इवेंट या मैच जो होता था उसमे सचिन ने और उनके दोस्त सबसे अच्छे दोस्त  विनोद कांबली ने मिलकर अच्छे  रन मिलकर बनाते थे  और दोनों ने  क्रिकेट के सुरुवात एक साथ ही किया स्कूल के दिनों से ही ।

एक गजब की पार्टर्नशिप सीप हुआ था सचिन और विनोद के दवारा ” हर्रिस शैल्ड ट्रोपी ” जो की हुआ था साल 1988 को शारदाश्रम विद्यामंदिर और सत ज़ेवियर हाई स्कूल के साथ ये मैच हुआ था और इस मैच मैं गजब का रिकॉर्ड बना था वो रिकॉर्ड पार्टर्नशिप हुआ था 664 रन का जो की एक अद्भुत रिकॉर्ड है और आज के टाइम मैं भी बहुत बड़ी बात है ।

उस टाइम सचिन करीब करीब 14 या 16 साल के बीच उनकी उम्र थी । और इस उम्र मैं इतनी बड़ी पार्टनरशिप एक बहुत बड़ी बात थी और कहा जाता है मेहनत करते रहो रास्ता मिलता जायेगा और भगवान भी उसी का साथ देता है जो खुद पे भोरसा  रखता हो और मेहनत करता हो और बाकि परिवार और लोग तोह है ही ।

सचिन तेंदुलकर का टीम इंडिया क्रिकेट मैं डेब्यू हुआ था तब उनका उम्र सिर्फ और सिर्फ 16 साल की थी । और इस उम्र मैं इंटरनेशनल क्रिकेट मैं आना और सेलेक्ट होने एक बड़ी उपलपधी थी । और वो उतरे थे इंडिया का मैच पाकिस्तान के साथ हो रहा था वो टेस्ट मैच हो रहा था । तब सचिन बैटिंग करने आये और किसी लगा नहीं था की ये छोटा बच्चा एक दिन क्रिकेट का भगवान बनेगा । और पाकिस्तान का बॉलर अटैक बहुत ही मजबूत था उस समय और सचिन को बाउंसर और काफी तेज़ी से बाउल फेका जा रह था ।

सचिन एकदम डरे नहीं और बैटिंग करते रहे और अपनी पूरी फोकस बैटिंग पे लगया था और सायद उस मैं मैं सचिन को चोट भी लगी थी तब पर भी सचिन डरे नहीं और बैटिंग किया और अपनी अच्छी बैटिंग का प्रदर्शन किया और सबका दिल जीता । और पाकिस्तान कुछ नहीं कर पाया सचिन को डरने मैं कामयाब नहीं हुआ ।

सचिन ने विवाह किया है अंजलि तेंदुलकर से और इनके दो बच्चे है एक बेटी है और बेटा । बेटी का नाम है सारा तेंदुलकर है और बेटा का नाम है अर्जुन तेंदुलकर है ।

अंजलि तेंदुलकर सचिन से करीब 7 साल बड़ी है और सचिन छोटे है अंजलि से ।

सचिन कूल 50-50 का मैच one-day  खेले है 463 मैच खेले है और टेस्ट मैच कहले है 200 का करीब । 50-50 के मैच मैं सचिन ने रन बनाया है 18,426 रन बनाया है और 200 टेस्ट मैच मैं रन बनाया है 15,921 बनाया है । one-day मैच का सेंचुरी है 49 है और टेस्ट मैच का है 51 है ।

सचिन पुरे विश्व का पहले खिलाड़ी है जिन्होंने one-day मैच मैं पहला इंटरनेशनल डबल सेंचुरी बनाया है । सचिन की बहुत सरे उपलपधी है भारत सरकार द्वारा उनको बहुत सरे अवार्ड मिला है । पर उनमे से एक भारत रत्न अवार्ड मिला है साल 2014 मैं जो की भारत रत्न अवार्ड मिला था उस टाइम प्राइम मिनिस्टर थे हमारे प्रणब मुख़र्जी के द्वारा भारत रत्न मिला था ।

सचिन की एक इच्छा थी की वो रिटायर होने से पहले 50-50 मैच की वर्ल्ड कप होता है वो जीत जाये क्यों की सचिन का ये एक सपना था और ये सपना पूरा भी हो गया धोनी के कप्तान सीप मैं साल 2011 को इंडिया पुरे 28 साल बाद वर्ल्ड कप जीता और सचिन का ये सपना पूरा भी हो गया ।

 

ये भी पढ़े :

  1. वरुण चक्रवर्थी पर दस वाक्य
  2. देवदत्त पडीक्कल पर दस वाक्य 
  3. ऋतुराज गायकवाड़ पर दस वाक्य 
  4. हार्दिक पंड्या पर दस वाक्य 
  5. रोहित शर्मा पर दस वाक्य 
  6. विराट कोहली पर दस वाक्य 
  7. शार्ट निबंध मेरे प्यार खिलाडी पर 

 

 

 

 

Leave a Comment